पाकिस्तानी नेता का दवा , तालिबान की मदत से कश्मीर हासिल करेंगे

तालिबान ने अफगानिस्तान पर कब्जा क्या किया कि पाकिस्तान बड़ी-बड़ी ख्वाब दिखने लगा है। अफगानिस्तान में तालिबान को खड़ा करने में पाकिस्तान का सहयोग किसी से छिपा हुआ नहीं है। काबुल पर तालिबान के कब्जे को लेकर प्रधानमंत्री इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक ए इंसाफ जश्न मना रही है और उन्हीं की पार्टी की एक नेता ने कश्मीर को लेकर सनसनीखेज दावा किया है।

पाकिस्तानी नेता नीलम इरशाद शेख ने कहा तालिबान पाकिस्तान के साथ है तालिबान आएगा और वह कश्मीर जीतकर पाकिस्तान के सुपुर्द कर देगा। नीलम ने यह विवादित बयान पाकिस्तान केबल टीवी पर एक बहस के दौरान दिया। जब टीवी एंकर ने उनसे पूछा कि तालिबान आपको कश्मीर देगा। आपको यह किसने बताया इस पर नीलाम इरशाद ने कहा भारत ने हमें बांट दिया है और हम फिर एकजुट होंगे।

हमारी फौज के पास पावर है सरकार के पास पावर है। तालिबान हमारा समर्थन कर रहा है क्योंकि पाकिस्तान ने उनका समर्थन किया था। जब उन पर अत्याचार हुआ था। अब वह हमारा साथ देंगे पाकिस्तान के ग्रीन पासपोर्ट की इज्जत शुरू हो गई है। पाकिस्तान में इन्वेस्टर जा रहे हैं। विदेशी कंपनी आ रही है। राजस्व बढ़ गया है। पूरी दुनिया में पाकिस्तान का टॉप पर नाम है। नीलम इरशाद जब यह सारी बातें बोल रही थी।

एंकर और पैनल में बैठे बाकी लोग हंस रहे थे। नीलम इरशाद का यह बयान ऐसे वक्त में आया है जब पाकिस्तान पर तालिबान आतंकियों की खुलेआम मदद करने का आरोप लग रहा है।अफगानिस्तान में युद्ध के दौरान हजारों आतंकवादी पाकिस्तान के कबायली इलाकों से अफगानिस्तान चले गए। जानकारों का कहना है कि पाकिस्तानी सेना और आईएसआई की मदद से अफगानिस्तान में एक बार फिर तालिबान का राज आ गया है।

माना जाता है कि लंबे समय से तालिबान के पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई से गहरे संबंध है। पाकिस्तान की नीलम इरशाद कश्मीर मसले पर तालिबान के साथ आने का दावा कर रही है। लेकिन अपनी छवि सुधारने में लगा आतंकी गुट तालिबान पहले ही कह चुका है कि उसका इस मुद्दे से कोई लेना देना नहीं है। तालिबान कश्मीर मुद्दे को भारत पाकिस्तान के बीच का द्विपक्षीय और आंतरिक मामला बता चुका है।

अफगानिस्तान पर कब्जा करने के बाद तालिबान के प्रवक्ता सुहर्षा साहिन ने कहा था कि तालिबान भारत पाकिस्तान के बीच प्रतिद्वदिता था का हिस्सा नहीं बनना चाहता है। उनका कहना है कि वह आजादी के लिए लड़ने वाले लोग हैं और अब वह अफगानिस्तान के लोग हैं और कब्जे के खिलाफ लड़ रहे हैं।

पाकिस्तान भारत से पंगा लेने की हर संभव कोशिश करता रहा है। आतंकवाद को पनाह देने वाले पाकिस्तान को अब तालिबान का सहारा मिला है। इसलिए उसके नेताओं के ऐसे बोल निकल रहे हैं लेकिन पाकिस्तान को हमेशा ध्यान रखना होगा कि कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा था, है और रहेगा।

By Rajesh