तालिबान का कब्जा अफगानिस्तान पर हो जाने के बाद हजारों अफगानी और गैर मुल्क के निवासी यहां से चले जाना चाहते हैं। तालिबान के लाख कहने के बावजूद कि वह लोगों की रक्षा करेगा और किसी को तकलीफ नहीं पहुचाये गए, लेकिन हकीकत तो यही है कि तालिबान का तानाशाही शासन शुरू हो गया है।

तालिबान के काबुल पर कब्जा करने के तुरंत बाद ही अफगानिस्तान को कई साल पीछे पहुंच दिया, इतना ही नहीं  महिलाओं को बुर्के में रहने का फरमान जारी किया गया। महिलाओ को कामकाज छोड़कर घर के काम करने की नसीहत भी दी गई। पुरुषों को बोला  गया है कि पांचों वक्त की नमाज पढ़ना होगा और दाढ़ी नहीं कटवानी होगी। लड़कियों और बच्चियों की जिंदगी पर खौफनाक खतरा मंडरा रहा है। ऐसे में लोग किसी भी तरह चाहे वह किसी भी देश के निवासी हो अफगानिस्तान से चले जाना चाहते हैं।

By Rajesh